Posted by: prithvi | 05/04/2009

नोहर : बंद हवेलियों का नगर

तड़के साढे़ चार बजे नोहर का उनींदा सा रेलवे स्‍टेशन.

तड़के साढे़ चार बजे नोहर का उनींदा सा रेलवे स्‍टेशन.

  • नोहर : बंद हवेलियों का खुला नगर
  • सुबह के चारेक बज रहे थे जब निजी बस ने नोहर के बिहाणी चौक पर उतारा. राजस्‍थान के एक सिरे पर बसा यह ऐतिहासिक कस्‍बा, एक गांव की तरह उनींदा था. चौक पर चाय और बस वाले की दुकान ही खुली थी. ज्‍यादा लोग भी नहीं थे. बस के ज्‍यादातर लोग उतर गए और अपनी अपनी राह पकड़ ली. पेड़ के नीचे चबूतरे पर रखे मटके से पानी लेकर मुंह धोया और चाय पी. पांच रुपये में एक कप.

    अंधेरों के उजाले, रोशनी के अंधेरों से अलग होते हैं. यही सोचकर मुहं अंधेरे ही थोड़ा घूमने का मानस बना. ढाबे वाले भाई से पूछ यूं ही होटल या धर्मशाला की तलाश में निकल पडे़. नोहर की गलियां और माहौल ठेठ ग्रामीण. वही गांवों सा सन्‍नाटा और इतर तितर बैठे डांगर. साढे़ चार बजे के बाद भी नोहर जागा नहीं था.बिहाणी चौक से जीटी रोड की ओर जाते समय बायीं ओर मुड़ गए और घूमते घुमाते पहुंच गए धान मंडी. धानमंडी में एक ही दुकान पर गेहूं की ढेरी लगी थी. नई फसल की. वहां अधजगे से युवक से बस अड्डे का रास्‍ता पूछा.

    नोहर में या यूं कहें वहां की धानमंडी में गधे बहुत हैं.

    उसने जैसा बताया वैसा करते हुए रेलवे स्‍टेशन पहुंच गए. जीटी रोड के बायीं ओर रेलवे स्‍टेशन है छोटा सा. उस वक्‍त वहां दो चार लोग बैठे थे. जैसे ही अंधर घुसे गार्ड ने घंटी बजाई, गाड़ी आने की पूर्व सूचना वाली. साढ़े चार बजे यहां से एक गाड़ी है जो जयपुर से आती है. पैसेंजर. कोई पांचेक लोग होंगे उस वक्‍त स्‍टेशन पर. स्‍टेशन के बाहर काफी दुकानें खुलीं थीं. जयपुर, दिल्‍ली, बीकानेर से, जाने वाली बसें आ रही थीं. एक जीप वाला रावतसर, रावतसर की आवाज दे रहा था.
    स्‍टेशन से बाहर निकलते ही सीधे मुहं की तरफ सड़क जाती है. उस पर चल पड़े. आगे चलकर देखा तो बिहाणी चौक था. यानी पौने घंटे में घूम फिरकर वहीं आ गए जहां से चले थे.

    बंद पड़ी और जर्जर होती हवेलियां

    एक बंद पड़ी हवेली.

    एक बंद पड़ी हवेली.


    नोहर अपने पुरानी पुरानी हवेलियों के लिए भी जाना जाता है. ये ह‍वेलियां उन सेठों (बणियों) की हैं जो अर्सा पहले कलकत्‍ता, मद्रास, हैदराबाद या अन्‍य स्‍थानों पर चले गए. पीढियां गुजर गईं. इन हवेलियों में से कुछ के ही वारिस अब यहां आते हैं. इनकी देखभाल करते हैं. बाकी सब ऐसे ही सुनसान पड़ी हैं, जर्जर होती, ढहती. इन हवेलियों को देखकर ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि संपन्‍नता यहां बहुत पहले से ही है. जैसे कि अब का सेक्‍टर पांच.

    निजी भागीदारी से विकास
    नोहर को शिक्षा, स्‍वास्‍थ्‍य जैसी जनोपयोगी सेवाओं के लिए क्षेत्र में अव्‍वल माना जाता है. इसका एक बड़ा कारण बाहर गए सेठ परिवारों का यहां के विकास में योगदान भी है. थिरानी, पेड़ीवाल, बिहाणी आदि परिवारों ने विभिन्‍न कामों के लिए दिल खोल कर खर्च किया है. वह चाहे सड़कों का निर्माण हो या विद्यालयों का. यह दिखता है. इन परिवारों का जमीन से जुड़े रहने का यह अनूठा प्रयास है जिसे किसी तरह के परिणाम की अपेक्षा के बिना किया गया है. इस योगदान ने नोहर को कई मायनों में अलग स्‍थापित कर दिया.

    लाखड़ती जूती: टिकाऊ और मुलायम

    एक दुकान में जूतियां.

    एक दुकान में जूतियां.

    नोहर की जूतियां भी काफी चर्चित हैं. इनमें से एक है लाखड़ती जूती. लाख जैसे रंग की यह जूती बकरे की खाल से बनती है. जोगीआसन, नोहर के चानणमल बताते हैं कि टिकाऊपन, कोमलता तथा वजन में हल्‍का होना इस जूती की खासियत है. राजस्‍थान से बाहर भी इन जूतियों की खूब मांग है. लोग आर्डर देकर ये जूतियां मंगवाते हैं. विशेषकर राजस्‍थानी उत्‍पादों की जानकारी और पहचान रखने वाले लोग. चानणमल की दुकान में एक फोटो लगी है जिसमें वे प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री भैरोंसिंह शेखावत को जूती पहना रहे हैं.

    खुला खुला सा नोहर
    पुरानी आबादी को छोड़ दें तो नोहर काफी खुला खुला है. वरिष्‍ठ साहित्‍यकार भरत ओळा के शब्‍दों में गांव का गांव, शहर का शहर. घिच पिच नहीं है. स्‍पेस है हर कहीं जो लोगों के दिलों में भी है. काफी मिलनसार और बाहें पसारे स्‍वागत करने वाला. गलियां खुली हैं और घर भी गांवों की तरह दूर दूर हैं. अभी तक शहरी ‘संकीर्णता’ न तो इस नगर में आई है और न ही लोगों की मानसिकता में.

    वैसे भी नोहर की भूमि ऐतिहासिक और प्राचीन है. नोहर भी उसी बेल्‍ट में आता है जो नाथ संप्रदाय की बहुलता के लिए विख्‍यात है. गोगामेड़ी हो या गोरखाणा, नाथों के अनेक मठ इलाके में हैं.

    Advertisements

    Responses

    1. बहुत सुदर जानकारी दी … धन्‍यवाद आपका।

    2. nohar re baare me bhot suni jankari uplabdh karayi hia the……

    3. hello sir…
      nohar ko pda…ek baat btau….mujhe na haweliyon ka bhut hi shok hai…aap soch rhe hoge ki kaisi ladki hai…magr sir mere kahne ka mtalab hai ki mujhe itihas me bhut hi jyada interest hai…or rajasthan ki bhut sari haweliya maine dekhi hain…bhut achha lagta hai dekhkar….sochti hu ki kabhi isme bhi insan rhe honge……ek-1 hisse ko dekhkar mujhe bhut achha lagta hai….or haweliyan ho to rajasthan ki…kyun rajasthan hi to main rajao ka gadh rha hai…shayad isliye mujhe itihas kaphi pasand hai…
      very nice sir…

    4. नोहर के बारे मे बहुत अच्छी जानकारी दी है ।

    5. very nice news

    6. I also love my town Nohar……Nohar is my native place….Nohar is very peacefull town with all necessory aminities….feeling Good to read this artical…….Thinking JAISE ME NOHAR ME GHOOM RAHA HUN.
      Thanks
      Regard

    7. पुरानी आबादी को छोड़ दें तो जैसा बताया वैसा नोहर हैं

    8. good …… u have collected information abt NOHAR….
      bt this is not enough.
      nohar itna chota bhi nahi hai ki 3/4 hour me sara nohar ghum liya………
      you must know more abt nohar.

    9. बहुत अच्‍छा लगा.

    10. आपकी दी गई जानकारी हमें चोखी लगी पर एक बात मैं बताना चाहूंगा कि नोहर की अनाज मंडी चने के लिए एशिया में पहले पर रही है..

    11. Good!

    12. बहुत काम की जानकारी दे रहे हो।

    13. give something more

    14. NOHAR BAHUT SUNDER HAI

    15. apne nohar ke bare me net par jankr bahut acha lga…thanks.

    16. NOHAR IS VERY GOOD

    17. know about nohar on the nohar i am very glad

    18. jene nohar nahi vakhkya vo janma hi nahi

    19. My Janam Bhumi…………. I cannot forget my child hood in NOHAR……. and Most Important is Mela and Ramlila………… and also Temple like Surya Bhavan and Hanuman Temple

    20. Good Site

    21. very good
      aapne nohar ke baare me jo jankari di he wo bahut sahaj or saral he kuchh bhi banawat nahi he isme
      mera bachpan bhi NOHAR me hi bita he in sab galion me maine cycle pe bhut chakkar lagaye he mujhe wo din phir yaad aa gaye.
      achchha laga apne NOHAR KE BARE ME NET PE JANKARI DEKHKAR AAPNE JO KAAM KIYA WO TAARIF KE KABIL HAI SACH MEIN.

    22. GREAT !! REALY GOOD INFORMATION ABOUT NOHAR. IF WE TRY OUR BEST NOHAR CAN COME ON WORLD MAP FOR HIS OLD HAVELI, BIRKALI TIBBA, GOGAMEDI, AMARNATH DERA AND HISTORICAL GURUDWARA. THANKS AND BEST WISHES FOR OUR NOHAR.

    23. nohar meri janam bhoomi hai. aapne nohar ke baare main bahut kuch likhha , aapko bahut bahut thanks. ek baat aapko kahna chahta hu ki jaise aapne bataya yaha gadhe bahut hai to my dear vaha ki dhan mandi main ye gadhe hi sabse jyada carting main use hote hai

    24. NOHAR KE BARE ME HAME BHUT AACHI JANKARI DE NOHAR KO DISTIK BNANA CHAIYE

    25. HELLO, NOHAR IS GREAT CITY
      I LIKE IT NOHAR

    26. Hello Nohar ek pyara sahar h aapne sunder jankari di h.
      NOHAR IS VERY GOOD………..umesh

    27. NOHAR VERRY SPECIAL……………………….

    28. you are very excelent writer

    29. Enjoy it……..

    30. Nohar ke bare me sun kar bahut acha lagta h.Nohar is great.Me All India Ghum chuka hu lekin jab bhi net par bethta hu to pahle nohar ke bare me search karta hu…..nohar me har parkar ki suvidha h..

    31. bhahut sunder hai……….gazab

    32. bahut accha sahar hai hamara

    33. nohar is a lovable town

    34. wah mera nohar

    35. mere nohar me aane ka man karta hai bhai par kaya karu

    36. i love nohar
      -vinod soni jinga

    37. old is gold (mahlo ki nagri)

    38. nohar is a great city in rajsthan.
      I am proud of nohar.
      i love nohar

    39. wa mere nohar, nohar jaisa sahar to india me kahin nahi lagta,sabse achhe city nohar

    40. kafi rochak jankari he

    41. Nohar meri janambhumi or karambhumi hai.. jaisa aapne Hmare nohar k baare me padha….waise hi yaha k log hai…khushmizaj, hasmukh milansar…
      nohar k logo ki or nohar ki jitni tarif ki jaye utni kam h.

    42. चोखी जानकारी , धन्यवाद

    43. NOHAR IS GREET CITY IN INDIA.I LOVE MY HOME PALECE NOHAR

    44. nohar is king city.

    45. NOHAR IS GREET CITY IN INDIA.I LOVE MY HOME PALECE NOHAR

    46. ji sa! bilkul..

    47. bahut soch samhj or pure pratikriya dhek kar bahut achi jankari dii nice noharrrr

    48. नोहर की छाप सबसे अलग है ,इस ने खेल मै भी अपना अच्छा नाम कमा रखा है और यहाँ के लोग बहुत् अच्छे है|यहाँ के सेठ बड़ी दरीयदेली है|

    49. I love my nohar

    50. kafi achha lga apne nohar k bare me jankr or pdhkar lekin abhi bhi kuchh adhura sa h bhut kuchh abhi baki h…..nohar itna hi nhi h..!
      #Nohar is the best city to live in INDIA..i love my motherland nohar..
      nd we r making it d best city to live in d wrld!##
      BEING YUVA
      ORGANIZATION…

    51. Incredible Place 👑👑


    कुछ तो कहिए..

    Fill in your details below or click an icon to log in:

    WordPress.com Logo

    You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

    Twitter picture

    You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

    Facebook photo

    You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

    Google+ photo

    You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

    Connecting to %s

    श्रेणी

    %d bloggers like this: